Vachan Kise Kahate Hain | Vachan in Hindi

Hindi Vyakaran की इस सीरीज में Vachan Kise Kahate Hain, Vachan in Hindi को उदाहरण सहित बिलकुल ही आसान तरीके से सीखेंगे।

Vachan Kise Kahate Hain

Vachan Kise Kahate Hain – परिभाषा 

ऐसे शब्द जिससे संज्ञा का एक या एक से ज्यादा होने का बोध हो, उसे वचन कहते हैं।

जैसे-

  • किताब से किताबें
  • लकड़ा से लकड़े
  • पक्षी से पक्षियां
  • महिला से महिलाएं
  • दुकान से दुकानें

वचन को संख्यावचन भी कहते हैं।

Vachan Ke Kitne Bhed Hote Hain – वचन के भेद

1. एकवचन 

2. बहुवचन 

Ek Vachan Kise Kahate Hain – एकवचन

संज्ञा का ऐसा रूप जिससे एक वस्तु या एक व्यक्ति होने का बोध हो, उसे एकवचन कहते हैं।

जैसे- महिला, बकरी, तालाब, रुपया, लड़का, गाय, बच्चा, कपड़ा, माता, पिता, भाई, किताब, साइकल, कुत्ता, मोर आदि।

बहुवचन

संज्ञा का ऐसा रूप जिससे एक से अधिक वस्तु या व्यक्ति होने का बोध हो, उसे बहुवचन कहते हैं।

जैसे- महिलाएं, बकरियां, रूपये, लड़के, गायें, कपड़े, मालाएँ, माताएँ, किताबें, रोटियाँ, कुत्ते, बेटे आदि।

यह भी पढ़ें : सर्वनाम

कुछ महत्वपूर्ण बिंदु

आदरणीय व्यक्तियों के लिए हमेशा बहुवचन का इस्तेमाल होता है।

जैसे – अध्यापक कल पढ़ाएंगे।

संबद्ध दिखाने वाली कुछ संज्ञायें एकवचन और बहुवचन में बराबर रहती हैं।

जैसे – चाचा, मामा, दादा

पुल्लिंग ईकारान्त, उकारान्त और ऊकारान्त शब्द एकवचन और बहुवचन में समान रहते हैं।

जैसे – एक लड़का – दस लड़के, एक कलम – दस कलम

द्रव्यसूचक संज्ञायें का प्रयोग एकवचन में होता है।

जैसे – दूध, पानी, तेल

कुछ शब्दों का प्रयोग हमेशा बहुवचन में किया जाता है।

जैसे- काम, जान, आँसू

बड़प्पन दिखाने के लिए कभी -कभी मैं की जगह पर हम का इस्तेमाल होता है।

जैसे – हमें पता है कि हमें क्या करना है

व्यवहार में तुम की जगह पर आप का इस्तेमाल करते हैं।

जैसे- आपसे कुछ काम था

Ek Vachan Se Bahuvachan बनाने के नियम –

1) आकारान्त पुल्लिंग शब्दों में की जगह पर लगाने से बहुवचन बनता है।

लड़का – लड़के

कपड़ा – कपड़े

चप्पल – चप्पलें

बेटा – बेटे

2) अकारांत स्त्रीलिंग शब्दों मेंकी जगह पर एं लगाने से बहुवचन बनता है।

किताब – किताबें

रात – रातें

बात – बातें

निगाह – निगाहें

मुश्किल – मुश्किलें

3) जिस स्त्रीलिंग संज्ञाओं के आखिर में या आता है, उसमें यां लगाने से बहुवचन बनता है।

चिड़िया – चिड़ियां

नदिया – नदियां

निंदिया – निंदियां

4) ईकारान्त स्त्रीलिंग शब्दों के या की जगह पर इयां लगाने से बहुवचन बनता है।

गति – गतियां

तितली – तितलियां

मुर्गी – मुर्गियां

कुर्सी – कुर्सियां

गलि – गालियां

5) आकारांत स्त्रीलिंग एकवचन संज्ञा-शब्दों के आखिर में एँ लगाने से बहुवचन बनता है।

माता – माताएं

कथा – कथाएं

शाखा – शाखाएं

दिशा – दिशाएं

कल्पना – कल्पनाएं

6) इकारांत स्त्रीलिंग शब्दों में याँ लगाने से बहुवचन बनता है।

लड़की – लड़कियाँ

जाति – जातियाँ

नदी – नदियाँ

7) उकारान्त व ऊकारान्त स्त्रीलिंग शब्दों के आखिर में एँ लगाने से बहुवचन बनता है।

वस्तु – वस्तुएँ

बहू – बहुएँ

8) संज्ञा के पुंलिंग या स्त्रीलिंग रूप में गण/वर्ग/जन /लोग/वृन्द/दल आदि जोड़कर शब्दों का बहुवचन बनाए जाते हैं

स्त्री – स्त्रीजन

मित्र – मित्रवर्ग

विद्यार्थी विद्यार्थीगण

नारी – नारीवृन्द

आप – आपलोग

सेना – सेनादल

9) कुछ शब्दों में गुण, वर्ण, भाव आदि शब्द लगाकर बहुवचन बनाया जाता है।

व्यापारी – व्यापारीगण

मित्र – मित्रवर्ग

विभक्तिसहित संज्ञाओं के बहुवचन बनाने के नियम निम्न हैं

1) अकारान्त, आकारान्त और एकारान्त संज्ञाओं के आखिर में /ए की जगह पर बहुवचन बनाने के लिए ओं कर दिया जाता है।

गधा – गधों

अंधा – अंधों

जानवर – जानवरों

आदमी – आदमियों

2) आकारान्त व उकारान्त, ऊकारान्त, अकारान्त, औकारान्त संज्ञाओं को बहुवचन बनाने के लिए आखिर में ओं जोड़ना पड़ता है और जोड़ने से पहले को बदल दिया जाता है।

बहू – बहुओं

जौ – जौओं

3) इकारान्त और ईकारान्त संज्ञाओं को बहुवचन  बनाते समय आखिर में यों जोड़ दिया जाता है।

नदी – नदियों

गोपी – गोपियों

गाड़ी – गाड़ियों

बकरी – बकरियों

यह भी पढ़ें : क्रिया विशेषण 

वचन की पहचान कैसे करें

वचन की पहचान संज्ञा, सर्वनाम, विशेषण और क्रिया से को जाती है।

1)  भाषा में आदर दिखाने के लिए बहुवचन का इस्तेमाल  होता है।

जैसे –

  • अध्यापक पढ़ा रहे हैं।
  • पिता जी, आप कहां गए थे।
  • मेरे भैया दिल्ली हैं।

2) कुछ शब्द हमेशा एकवचन में होते हैं।

जैसे –

  • मुझे बहुत गुस्सा आ रहा है।
  • गांधी जी सत्य पुजारी थे।
  • आसमान में बादल छाए हैं।

3) द्रव्यवाचक, भाववाचक और व्यक्तिवाचक संज्ञाएँ हमेशा एकवचन में होती है।

   जैसे –

  • तेल बहुत महंगा हो गया है।
  • सच्चाई की हमेशा जीत होती है।
  • राम बुद्धिमान है।

4) कुछ शब्द हमेशा बहुवचन में होते हैं।

  • आजकल हर चीज महंगी हो गई है।
  • डरावना दृश्य देखकर मेरी तो जान ही निकल गई।

अगर आपको यह post Vachan Kise Kahate Hain पसंद आयी तो इसे जरूर शेयर करें धन्यवाद् ।

यह भी पढ़ें :

Check Also

tatsam and tadbhav shabd kise kahate hain

Tatsam and Tadbhav Shabd Kise Kahate hain

Hindi Vyakaran की इस सीरीज में Tatsam and Tadbhav Shabd Kise Kahate hain , तत्सम-तद्भव शब्द …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *