Swar Kise Kahate Hain | स्वर कितने प्रकार के होते हैं?

Swar Kise Kahate Hain, स्वर की परिभाषा, स्वर किसे कहते हैं in Hindi, स्वर कितने होते हैं, swar ke bhed, Swar in hindi, swar in hindi grammar, Swar in hindi varnamala, swar ke prakar, swar kya hai in hindi

आज के इस पोस्ट में हम पढ़ेंगे कि Swar Kise Kahate Hain और स्वर कितने प्रकार के होते हैं? हम जानते हैं कि किसी भी भाषा को पढ़ने या समझने के लिए ज़रूरी है कि सबसे पहले उसके वर्णमाला को समझा जाए। हिन्दी वर्णमाला में कुल 52 वर्ण होते हैं, जिसे दो भाग स्वर और व्यंजन में बाटा गया है।

swar kise kahate hain prakar bhed

Swar Kise Kahate Hain | स्वर किसे कहते हैं?

जिन वर्णों को बिना किसी दूसरे वर्ण की मदद से बोला जाता है उन्हें स्वर कहते हैं। परम्परागत रूप से स्वरों की कुल संख्या 13 होती है परन्तु उच्चारण के आधार पर 10 स्वर (अ, आ, इ, ई, उ, ऊ, ए, ऐ, ओ, औ), 1 अर्ध स्वर (ऋ) और 2 अनुस्वर (अं, अ:) होते हैं, जिसमें अर्ध स्वर को भी स्वर के साथ गिना जाता है और अनुस्वर को स्वर की श्रेणी से बाहर रखा जाता है।

स्वर की संख्या 11 होती है, अनुस्वर को स्वर के साथ नहीं गिना जाता है।

हिंदी वर्णमाला के स्वर

हिंदी वर्णमाला के स्वर निम्न हैं –

स्वर – अ, आ, इ, ई, उ, ऊ, ए, ऐ, ओ, औ  (10)

अर्ध स्वर – ऋ (1)

अनुस्वर – अं, अः (2)

स्वर कितने प्रकार के होते हैं | स्वर के भेद (Swar ke Bhed)

उच्चारण की दृष्टि से स्वर 3 तरह के होते हैं –

  1. ह्रस्व स्वर
  2. दीर्घ स्वर
  3. प्लुत स्वर

ह्रस्व स्वर | Swar Kise Kahate Hain

ह्रस्व स्वर को एक मात्रिक स्वर भी कहा जाता है, क्योंकि इसमें कोई भी अतिरिक्त मात्रा नहीं होती। ह्रस्व स्वर ऐसे स्वर को कहा जाता है, जिन का उच्चारण करने में बहुत ही कम समय लगता है या सबसे कम समय में बोले जाने वाले स्वर को ह्रस्व स्वर कहते हैं।

जैसे – अ, इ, उ, ऋ हैं।

दीर्घ स्वर

जिन स्वरों का उच्चारण करने में ह्रस्व स्वर की तुलना में दो गुना समय लगता है, उसे दीर्घ स्वर कहते हैं। दीर्घ स्वरों की मात्राओं की संख्या दो होती है। दीर्घ स्वर को संधि स्वर के नाम से भी जाना जाता है। दीर्घ स्वर को मात्रिक स्वर भी कहा जाता है।

जैसे – आ, ई, ऊ, ए, ऐ, ओ, औ।

प्लूत स्वर | Swar Kise Kahate Hain

जिन स्वरों को बिना रुके आसानी से उच्चारण किया जा सकता है, ऐसे स्वर को प्लूत स्वर कहा जाता है। दूसरे शब्दों में – ऐसे स्वर जिन्हें बड़ी आसानी से बिना रुके लंबे समय तक उच्चारण किया जा सकता है।

जैसे – अ, आ, ई, ऊ, ए, ऐ, ओ, औ।

— FAQ —

Q. स्वर किसे कहते हैं तथा इसके कितने भेद हैं?

Ans. जिन वर्णों को बिना किसी दूसरे वर्ण की मदद से बोला जाता है उन्हें स्वर कहते हैं। परम्परागत रूप से स्वरों की कुल संख्या 13 होती है परन्तु उच्चारण के आधार पर 10 स्वर (अ, आ, इ, ई, उ, ऊ, ए, ऐ, ओ, औ), 1 अर्ध स्वर (ऋ) और 2 अनुस्वर (अं, अ:) होते हैं, जिसमें अर्ध स्वर को भी स्वर के साथ गिना जाता है और अनुस्वर को स्वर की श्रेणी से बाहर रखा जाता है।

Swar in Hindi Grammar – Video Guide

Conclusion

आज के इस पोस्ट में हमने Swar Kise Kahate Hain व  स्वर कितने प्रकार के होते हैं? के बारे में पढ़ा है। अगर आपको यह पोस्ट अच्छी लगी तो इसे शेयर करना न भूलें।

यह भी पढ़ें :

Check Also

application for leave in hindi

Application For Leave in Hindi | छुट्टी के सभी एप्लीकेशन

Application For Leave in Hindi, छुट्टी के लिए एप्लीकेशन, हिंदी एप्लीकेशन फॉर्मेट, Leave Application in …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *