Mausam Kya Hai, Mausam Kise Kahate Hain – पूरी जानकारी

Mausam Kya Hai in Hindi: आज की इस पोस्ट में हम जानेंगे कि मौसम क्या है? (What is Climate in Hindi) मौसम किसे कहते हैं? मौसम के प्रकार, मौसम के प्रमुख घटक, मौसम के तत्वों के नाम, मौसम की विशेषताएं आदि।

Mausam kya hai in hindi | Mausam kise kahate hain

Mausam Kya Hai | Mausam Kise Kahate Hain

मौसम की परिभाषा: किसी स्थान पर तापमान, आद्रता, वर्षा, वायुवेग आदि के संदर्भ में वायुमंडल की प्रतिदिन की परिस्थिति उस स्थान का मौसम कहलाता है।

जैसे- ठंडी, गर्मी, बरसात

दूसरे शब्दों में – किसी स्थान का मौसम असल में उस स्थान के तापमान, बादलों की दशा, हवा में नमी आदि से सम्बंधित है।

मौसम का सम्बंध हमारे वातावरण में रोजाना होने वाले बदलाव से है। यह मौसम हर जगह एक जैसा नहीं रहता है। किसी स्थान का मौसम दिन प्रतिदिन और सप्ताह दर सप्ताह बदलता रहता है।

मौसम के प्रकार | Mausam Kya Hai

  1. बसंत ऋतु (चैत्र-बैशाख या मार्च-अप्रैल)
  2. ग्रीष्म ऋतु (ज्येष्ठ-आषाढ़ या मई-जून)
  3. वर्षा ऋतु (श्रावण-भाद्रपद या जुलाई-अगस्त)
  4. शरद ऋतु (आश्विन- कार्तिक या सितम्बर-अक्टूबर)
  5. हेंमत ऋतु (अगहन-पौष या नवम्बर-दिसम्बर)
  6. शिशिर ऋतु (माघ-फाल्गुन या जनवरी-फरवरी)

मौसम के प्रमुख घटक

  1. तापमान, दाब
  2. आद्रता, कोहरा
  3. वर्षा, हिमपात
  4. वायुवेग

नोट: मौसम का पता अधिकतम न्यूनतम तापमापी के द्वारा लगाया जाता है।

मौसम के तत्वों के नाम

  1. वायुमंडल का तापमान अथवा सूर्यताप
  2. वायुमंडलीय दाब
  3. पवन
  4. वायुमंडलीय आद्रता
  5. वर्षा, हिमपात, कोहरा, पाला, ओस, बादल आदि।

मौसम की विशेषताएं

  1. मौसम गतिशील होता है।
  2. यह वातावरण के दैनिक परिवर्तनों को व्यक्त करता है।
  3. यह छोटे क्षेत्रों और छोटे काल खण्डों को व्यक्त करता है।
  4. मौसम के अध्ययन को हम मेटेरोलॉजी कहते हैं।

मौसम और जलवायु में अन्तर

मौसमजलवायु
अल्पकालीन वायुमंडल की दशाओं को मौसम कहते हैं।दीर्घकालीन वायुमंडल की दशाओं को वायुमंडल कहते हैं।
मौसम के मिजाज का प्रभाव बहुत छोटे क्षेत्र पर ही पड़ता है।जलवायु एक विशाल क्षेत्र को अपने मिजाज से प्रभावित करती है।
मौसम पर वायुमंडल की अल्पकालीन दशाओं का प्रभाव होता है।जलवायु वायुमंडल की दशाओं का दीर्घकालीन योग होती है।
मौसम प्रायः एक दिन में कई बार बदलता है।जलवायु एक लम्बे समय (लगभग 30 वर्ष से अधिक एक जैसी रहती है।

मौसम का महत्व क्या है?

मौसम का प्रत्येक जीव जंतु पर काफी असर पड़ता है। मौसम में बदलाव भी हमारे लिए बहुत ही जरूरी है। मौसम चाहे कितना भी अच्छा और सुखद हो फिर भी हम लोग कुछ समय बाद उससे उबने लगते हैं।

मौसम में बदलाव चाहते है क्योंकि मौसम लम्बे समय तक एक जैस रहता है, तो शारीरिक दृष्टी से भी वो अच्छा नहीं है।

मौसम एक प्राकृतिक घटक है जिसे हमें सहन करना ही होता है। इन्सान अगर चाहे भी तो उसे बदल नहीं सकता। मौसम हमारे मन, शरीर और भावनाओं को भी प्रभावित करता है।

व्यक्ति, बच्चे और बूढ़े मौसम परिवर्तन के कारण छोटी मोटी बीमारी का शिकार बन जाते है। उन्हें सर्दी, जुखाम जैसी बीमारी होने की संभावना बनी रहती है।

मौसम के बारे में पहले से जानकरी होना बहुत ही जरूरी है।इसीलिए मौसम विभाग का गठन किया गया है जो तापमान, पवन, वर्षा और अन्य वायुमंडलीय घटनाओं के बारे में जानकरी देना का काम करते हैं।

यह जानकरी एक सप्ताह या 48 घंटे पहले दी जाती है। मौसम के अचानक से बदलाव के कारण लोगों के दैनिक गतिविधियों और कामों पर असर पड़ता है।

Mausam Kya Hai in Hindi, Mausam Kise Kahate Hain – Video Guide

मौसम से सम्बन्धित  FAQ 

Q. मौसम विज्ञान का जनक कौन है?

Ans. ल्यूक हॉवर्ड को मौसम विज्ञान का जनक कहा जाता है।

Q. मौसम परिवर्तन किसके कारण और क्यों होता है?

Ans. धरती न सिर्फ सूर्य के चारों और चक्कर लगाती है, बल्कि खुद अपनी धुरी पर भी घूमती है और यह धुरी पूरी तरह खड़ी न होकर 23.5 डिग्री के कोण पर झुकी हुई है। यही हल्का सा झुकाव मौसम के परिवर्तन का कारण बन जाता है।

Q. मौसम के अनुसार आपके आसपास क्या क्या बदलाव होता है?

Ans. तापमान कम होने लगता है। हवा में नमी भी घटने लगती है, और इसके साथ हवा की दिशा भी बदलने लगती है।

Conclusion

उम्मीद करते हैं कि आपको हमारा यह पोस्ट Mausam Kya Hai, Mausam Kise Kahate Hain पसंद आया होगा अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी तो इसे शेयर करना न भूलें।

यह भी पढ़ें :

 

Check Also

अयस्क क्या है तथा अयस्क किसे कहते हैं? (Ores in Hindi)

अयस्क क्या है: आज के इस पोस्ट में हम अयस्क के बारे में पढ़ेंगे जैसे …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *