चट्टान किसे कहते हैं | चट्टान कितने प्रकार के होते हैं?

चट्टान किसे कहते हैं: आज के इस पोस्ट में हम शैल (चट्टान) किसे कहते हैं, चट्टान के प्रकार तथा इसकी इसकी विशेषताओं के बारे में जानेंगे।

चट्टान किसे कहते हैं | शैल किसे कहते हैं | चट्टान के प्रकार

चट्टान किसे कहते हैं या (शैल किसे कहते हैं)

भूपटल पर पाए जाने वाले वे समस्त पदार्थ जो धातु नहीं है, चाहे वे चीका मिट्टी के जैसे मुलायम हो या ग्रेनाईट की तरह कठोर हो, वह चट्टान कहलाती है।

जैसे – पत्थर, बालू, मिट्टी आदि।

पृथ्वी के क्रस्ट में तत्वों की संख्या 110 हैं लेकिन क्रस्ट के बनने में सिर्फ 8 तत्व ही जरूरी माने जाते हैं।

क्रस्ट का निर्माण लगभग 98.59% भाग सिर्फ 8 खनिजों ऑक्सीजन (46.8), सिलिका (27.7), एल्युमिनियम (8.13), लोहा (5.0), कैल्शियम (3.63), सोडियम (2.83), पोटैशियम (2.59), तथा मैग्नेशियम (2.09%) से निर्मित हुई है। 

चट्टान की उत्पत्ति कहाँ से हुई?

पृथ्वी शुरू में आग का गोला थी जो समय के साथ ठंडी हुई जिससे प्रकृति का निर्माण हुआ। इसी निर्माण में पृथ्वी में कई जगहों पर टूट-फूट और उथल-पुथल के परिणाम स्वरुप चट्टानों का निर्माण हुआ।

ऐसे तो पृथ्वी के भूगर्भ में कई तरह के खानिज पदार्थ पाए जाते हैं लेकिन कुछ मुख्य तत्व ऐसे हैं जो चट्टान बनाने में उपयोगी होते हैं।      

चट्टान कितने प्रकार के होते हैं?

उत्पत्ति के आधार पर चट्टानों को 3 भागों में बांटा जाता है –

  1. आग्नेय चट्टान
  2. अवसादी चट्टान
  3. कायांतरित या रूपांतरित चट्टान

(1) आग्नेय चट्टान (Igneous Rocks) किसे कहते हैं?

आग्नेय शब्द लैटिन भाषा के इग्निस से लिया गया है, जिसका अर्थ अग्नि होता है। 

ज्वालामुखी उदगार के समय भू-गर्भ से निकलने वाला मैग्मा ही धरातल पर जमकर ठंडा होने के बाद आग्नेय चट्टानों में बदल जाते हैं।

पृथ्वी की उत्पत्ति के बाद पहले इनका ही निर्माण होने की वजह से इन्हें प्राथमिक शैल भी कहते हैं। इन चट्टानों में जीवाश्म (Fossil) नहीं पाए जाते हैं।   

थलमंडल का लगभग 95% भाग इन्हीं चट्टानों से मिलकर बना है। 

आग्नेय चट्टानों के प्रकार 

आग्नेय चट्टान 2 प्रकार की होती है – 

(1) अंतनिर्मित आग्नेय चट्टान: 

वह चट्टानें जो सतह के नीचे लावा के ठंडे और ठोस होने से बनती है अंतनिर्मित आग्नेय चट्टान कहलाती है।  

इसके 2 उपवर्ग हैं –

  1. पातालिय चट्टान 
  2. मध्यवर्ती चट्टान 

(2) बाह्य आग्नेय चट्टान

वह आग्नेय चट्टान जिनका निर्माण सतह के ऊपर लावा के ठंडा होने और जमने से होता है, बाह्य आग्नेय चट्टान कहलाती है। 

आग्नेय चट्टान की विशेषताएं

  • आग्नेय चट्टान रवेदार, कठोर व दानेदार होती है।
  • इन चट्टानों में परत नहीं पाई जाती है तथा पानी का प्रवेश कम होने के कारण इन चट्टानों में रासायनिक क्रिया भी कम होती है।
  • इन चट्टानों में जीवाश्म नहीं पाए जाते हैं।
  • इन चट्टानों में जीवन जीने के लिए आवश्यक तत्व नहीं पाए जाते हैं।     

(2) अवसादी चट्टान/शैल (Sedimentary Rocks) किसे कहते हैं?

अवसादी चट्टानों का निर्माण आग्नेय चट्टानों से होता है। आग्नेय चट्टानों की परत दर परत जमने से अवसादी चट्टानों का निर्माण होता है। अतः इन्हें परतदार चट्टान भी कहा जाता है।    

शैल लुढ़ककर, चटककर तथा एक-दुसरे से टकराकर छोटे-छोटे टुकड़ों में टूट जाती है, इन छोटे कणों को अवसाद कहते हैं। ये अवसाद हवा, जल आदि के द्वारा एक जगह से दुसरे जगह पहुंचाकर जमा कर दिए जाते हैं।

ये अवसाद दबकर कठोर होकर शैल की परत बनाते हैं, इस तरह की शैलों को अवसादी चट्टान कहते हैं।  

उदहारण – बलवा पत्थर, चूना पत्थर कोयला, डोलोमाइट, सेल चट्टान संपिड और लिग्नाइट इसके प्रमुख उदहारण हैं।

अवसादी चट्टान की विशेषताएं

  • इनमें जीवाश्म पाए जाते हैं।
  • यह मुलायम होती है।
  • इन चट्टानों में परतें, संधि या जोड़ पाए जाते हैं लेकिन इसके शैल रवेदार नहीं होते हैं।
  • यह पृथ्वी की हलचल से विरूपित होकर अलग हो जाती है तथा कभी-कभी असंभव स्थानों पर स्थित होती है जैसे हिमालय पर्वत। 

संचार उपकरण के नाम हिंदी और इंग्लिश में

टिंडल प्रभाव क्या है?

(3) कायांतरित या रूपांतरित चट्टान (Metamorphic Rocks) किसे कहते हैं?

जब उच्च ताप और दाब की वजह से आग्नेय और अवसादी चट्टानों का बदलाव हो जाता है तो उसे कायांतरित चट्टान कहते हैं। 

यह 2 प्रकार की होती है – 

  1. आग्नेय से कायांतरित चट्टानें: ग्रेनाइट से निस 
  2. अवसादी से कायांतरित चट्टानें: चूना पत्थर से संगमरमर 

रूपांतरित चट्टान की विशेषताएं

  • इन चट्टानों में बहुमूल्य रत्नों उत्पन्न होते हैं।
  • इन चट्टानों में रवे जाते हैं जो आकार में बड़े तथा व्यवस्थित होते हैं।
  • रूपांतरण से बनने वाले क्वार्टजाइट का इस्तेमाल कांच बनाने में, संगमरमर का उपयोग इमारती पत्थर के रूप में तथा ग्रेफाइट का उपयोग पेन्सिल बनाने में किया जाता है। 

चट्टान किसे कहते हैं – Video Guide 

 FAQ 

Q. शैल से आप क्या समझते हैं? शैल के तीन प्रमुख वर्गों के नाम बताएँ।

Ans. कोई भी प्राकृतिक ठोस जैविक या अजैविक पदार्थ जिससे भू पृष्ठ  बनता है, शैल कहलाता है। यह मिट्टी की तरह नरम और ग्रेनाइट की तरह कठोर हो सकता है। स्थलमंडल  शैलों से बना है।

मिट्टी, चाक, बजरी शैल के उदाहरण हैं।

तीन प्रकार की शैलों के नाम लिखें –

  1. आग्नेय शैल
  2. अवसादी शैल
  3. कायांतरित शैल

Conclusion

उम्मीद करते हैं आज की इस पोस्ट chattan kya hota hai, shail kya hai के बारे काफी जानकारी प्राप्त हुई होगी अगर आपको यह पोस्ट अच्छी लगी तो इसे जरूर शेयर करें। 

यह भी पढ़ें :

Check Also

Mausam Kya Hai, Mausam Kise Kahate Hain – पूरी जानकारी

Mausam Kya Hai in Hindi: आज की इस पोस्ट में हम जानेंगे कि मौसम क्या है? …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *